Prime Time With Ravish Kumar, Aug 05, 2019 | Kashmir Special Status Ends Under Article 370

  • 🎬 Video
  • ℹ️ Description
The special status to Jammu and Kashmir under Article 370 of the Constitution has been removed by a presidential order that would come into force "at once", Home Minister Amit Shah said in parliament today, announcing the most far-reaching move on the state in nearly seven decades. There has also been a decision to bifurcate the state, so Jammu and Kashmir will be a Union Territory and have an assembly headed by a Lt Governor. Ladakh will also be a Union Territory but one without an assembly. What does this mean for millions of citizens in Jammu, Kashmir and Ladakh? A discussion on Prime Time. (Audio in Hindi)

NDTV is one of the leaders in the production and broadcasting of un-biased and comprehensive news and entertainment programmes in India and abroad. NDTV delivers reliable information across all platforms: TV, Internet and Mobile.


Download — Prime Time With Ravish Kumar, Aug 05, 2019 | Kashmir Special Status Ends Under Article 370

Download video
💬 Comments on the video
Author

भाई साहब कश्मीरी पंडितों एवं उनकी महिलाओं पर हुए अत्याचारों और उनके मानवाधिकार की भी चर्चा कर लिया करो।

Author — PRAMOD MISHRA

Author

कांग्रेस का जो हाल हुई हैं। उनमें रवीश कुमार जैसे पत्रकारों का 30 प्रतिशत की हिस्सेदारी है।

Author — Moti Lal

Author

एक दर्द तो है रवीश जी आपकी आवाज में😂😂..लगे रहिए

Author — Nikhil Jaat

Author

श्रीमान रविश जी का पिछवाड़ा भी फटा हुआ प्रतीत हो रहा है😆😆😆😆😂

Author — Rahul Kumar

Author

Sach batana
Maze lene aaye ho na 😝😝

( Edited - Kyuki 80 % log wahi karne aaye hai, including me )

Author — Poet Ritesh

Author

Kon kon yahan ravish ki jalti gaand dekhne aaya hai?😂

Author — Hitesh Mourya

Author

Who came just to enjoy ravish's frustration

Author — Annu Arya

Author

Jo log maje lene aaye wo like kre😂😂😂🤣🤣🤣

Author — Notty Varun

Author

पाकिस्तानी आवाम ndtv को अपना समझकर देखती है। भारत का पहला सेक्युलर चैनल, जिसे 370 हटने के बाद भारत से ज्यादा पाकिस्तान में देखा जा रहा है।

Author — Ravi Bijalwan

Author

Jo bhi yaha raveesh bhosdi wale ka suja hua muh dekhne aaye hai hit like

Author — Brij

Author

मुझे पता था तु अपनी मा चुदायेगा मदरचोद

Author — sanjeev mishra

Author

जहां एक लाख से भी ज्यादा हिन्दू रहता था, आज वहां पर मात्र 5 हजार ही हिन्दू रह गया है, क्या बात

Author — prashant upadhyay

Author

Anti national channel...anti national human ravish...anti national party's congress dalaal

Author — Nilesh Gandhi

Author

17:44 आप कितना गलत बोल रहे हैं।
मैं आपको बताता हूँ, अन्य राज्य को भी केंद्र शासित प्रदेश इसलिए नहीं बनाया जा सकता है क्योंकि जम्मू कश्मीर जैसे हालात अन्य राज्य में नहीं है।
दूसरे राज्यों में पत्थरबाजी नहीं हो रही है।
अलग देश की मांग नहीं हो रही है।
आतंकवाद नहीं हो रहा है।
अलगाववादी नहीं है।
और वहां पर चुनाव संपन्न होने पर वहां के नेता पाकिस्तान को धन्यवाद नहीं देते हैं, शांतिपूर्वक चुनाव होने के लिये।
ऐसे बहुत से कारण है और हालात हैं जिस वजह से इस तरीके से आर्टिकल 370 हटाया गया लेकिन आप अपने समाचार चैनल पर इस बात को नहीं बताएंगे। क्योंकि आपको मोदी से नफरत इतना ज्यादा है कि इसके लिए अगर आपको देश की सुरक्षा को भी ताक पर रखना पड़े तो आप रख दोगे।

Author — Vikash Kumar

Author

Copied....
मेरे विचार से मोदी सरकार ने सबसे बड़ा जुआ खेला था पीडीपी से समर्थन वापस लेकर मुफ्ती सरकार गिराने का।

अगर काँग्रेस, नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी को जरा भी भनक होती या अंदेशा होता कि मोदी सरकार को अगले आम चुनावों में इतना प्रचण्ड जनादेश मिलेगा और 370 हटा दी जाएगी, वे एक साथ आकर सरकार बनाने का दावा पेश कर देते और राज्य में राज्यपाल शासन नहीं लग पाता।

370 हटाने की जो शर्त थी कि राष्ट्रपतिजी से 370 हटाने की अनुशंसा राज्य की विधानसभा को करनी होगी वो शर्त पूरी नहीं होती। क्योंकि पीडीपी नेशनल कॉन्फ्रेंस कभी भी यह अनुशंसा नहीं करते। यही वह शर्त थी जिसके भरोसे कश्मीरी लीडर फुदकते थे कि केंद्र में कितनी भी मजबूत सरकार हो 370 हटा नहीं सकती। उन्हें विश्वास था कि कश्मीर में किसी की भी सरकार बने, विधानसभा से 370 हटाने की अनुशंसा कभी होगी ही नहीं।

भाजपा का पीडीपी के साथ गठबंधन बहुतो को रास नहीं आया था। लेकिन इस गठबंधन का फायदा भाजपा को यह हुआ कि उन्हें मुफ़्ती के क्षीण जनाधार की जानकारी मिल गयी और साथ ही भाजपा के साथ जाने की वजह से पीडीपी अब्दुल्ला और काँग्रेस के लिए अछूत हो गयी। अब्दुल्ला और कांगेस दोनों को लगा कि भाजपा की साथी रही पार्टी को अगर अभी सपोर्ट किया तो उनका मुस्लिम वोटबैंक नाराज हो जाएगा। इसी वजह से भाजपा की समर्थन वापसी के बाद दोनों ही दलों ने पीडीपी से किसी भी तरह के गठबंधन की संभावना को नकार दिया। यही 370 खत्म होनेकी नींव पड़ गयी थी।

भाजपा की इस स्ट्रेटेजी को न मूर्ख काँग्रेस, न घमंडी महबूबा और न लालची अब्दुल्ला समझ पाया। और उनकी इन्ही मूर्खता का लाभ भारत को मिला।

हम जहाँ सोचना बन्द करते है, मोदी सरकार उसके 5 किलोमीटर आगे से सोचना शुरू करती है।


*मोदी को समझना मुश्किल ही नही नामुमकिन है* ।

धारा 370 वैसे तो जम्मू-कश्मीर सरकार की अनुमति के बगैर हट नही सकती, , , ,


पर, मोदी फवरी में SC ST AMENDMENT BILL से कश्मीर में कानून बना चुके थे की अगर कश्मीर में चुनी हुई सरकार न हो तो गवर्नर सारे निर्णय ले सकते है ।

ये बिल जब पास हो रहा था तब मूर्ख विपक्ष को ये पता ही नही चला कि मोदी ये क्यों कर रहा है!

आरक्षण की बात थी इस लिये विपक्ष ने बड़े जोश से इस बिल का समर्थन किया, पर आरक्षण के बहाने मोदी ने गवर्नर को सारे हक्क दे दिए ।

जब 370 धारा हट रही थी तब पता चला कि मोदी जी ये गेम कब से सेट कर रहे थे !

ओर धारा 370 हटाने से दो दिन पहले UAPA बिल पास किया, मतलब अगर कोई अड़ंगा डालेगा तो सीधा जेल जाएगा ।

*Check and Mate*

धारा 370 हटानेकी नींव 2014 से रखी गयी थी, पूरे घटनाक्रम में महबूबा मुफ्ती की सबसे बड़ी गलती की उसने मोदी से हाथ मिला कर कश्मीर में अपनी सरकार बनाई ।
मोदी को बहाना चाहिए था राष्ट्रपति साशन लगाने के लिए, जो महबूबा की गलतियों की वजहसे लगा दिया गया । जो अब लाइफटाइम रहेगा । अगर, महबूबा कोंग्रेस से हाथ मिलाती तो शायद ये संभव न होता।

मोदी के बिछाए शतरंज के इस खेल में सारे प्यादे एक एक करके गिरते गए, आखिर में बची रानी के लिए वजीर ही काफी था ।

“द्वंद कहाँ तक पाला जाए,
युद्ध कहाँ तक टाला जाए,
तू भी है राणा का वंशज,
फेंक जहाँ तक भाला जाए,
दोनों तरफ़ लिखा हो भारत,
सिक्का वही उछाला जाए.!”

Author — Vikram Kumar

Author

"एक देश एक संविधान", आपको "निष्पक्ष" होना चाहिए रवीश जी, क्योंकि आप एक पत्रकार हो।

Author — Ghanshyam Banjare

Author

Gand fatne ki awaaz ni hoti ...Lekin sakal se pata chl jata h 😂😂

Author — Nishant Hindustani

Author

यह सिर्फ वही क्यों बोलता जो पाकिस्तान को पसंद है इंडियन गवर्नमेंट इंडियन लो और पूरे इंडिया सेनफरत क्यों है इसको पाकिस्तानी दलाल

Author — Yadvender Pandey

Author

Who is here to know the enemie's version?

Author — Bhaskar Sen

Author

Ravish bhai Mai aapko ek behtar reporter manta tha ...lekin ab Lagta hai ki aap to bas kasam kha ke bithe ho ki bina soche samjhe bas Sarkar ke sabhi kamon ki ninda Karna hai bas

Author — Prabhat Mishra